कैसे करे कंप्यूटर पर नया यूजर क्रिएट

कैसे करे कंप्यूटर पर नया यूजर क्रिएट

आज कंप्यूटर आपको बिज़नस ऑफिस, होम वगेरा सब जगह देखने को मिल जायेंगे। पर इसे इस्तेमाल करने के साथ साथ आपको कंप्यूटर के बारे में कुछ तकनीकी ज्ञान भी होना चाहिए। तो चलिए आज हम जानते है कंप्यूटर पर नया यूजर कैसे करे ओर उसके स्टेप इन डिटेल। क्योकि आप जब भी कोई नया कंप्यूटर खरीदते है। या अपने किसी से कंप्यूटर को लिया है या तो आपको पिछले अकाउंट को हटा करके अपना अकाउंट क्रिएट करना पड़ेगा।

अगर आपके कंप्यूटर में पहले अकाउंट नहीं बना है तो आपको इसके लिए अपने सिस्टम पर नया यूजर क्रिएट करने की जरूरत पड़ेगी। क्योकि इससे आपको बहुत सारे फायदे मिल जाते है। इससे आपकी फाइल ओर आपका कंप्यूटर सिक्योर भी रहता है अगर आपके कंप्यूटर को आपके घर के लोग या आपके दोस्त भी चलाते है। तो अपने कंप्यूटर पर नया यूजर अकाउंट की सहायता अपनी फाइल को प्राइवेट रख सकते है। जिससे कोई भी आपके सिस्टम में कोई बदलाव या unauthorize एक्टिविटी कर सके।


इसके लिए आपको अपना अकाउंट एडमिन अकाउंट बनाना होगा। ओर बाकि सभी के लिए आपको गेस्ट अकाउंट बनाना होगा इस तकनीक से आप अपने कंप्यूटर को सुरक्षित तो रखोगे। इससे अलग भी अपने कंप्यूटर पर नया यूजर अकाउंट क्रिएट करने के बहुत से फायदे है। जिन्हे नीचे डिसकस किया गया है।


कंप्यूटर पर नया उपयोगकर्ता खाता बनाने के लिए फायदे ->>
1. अपने सिस्टम में आप पासवर्ड सक्षम कर सकते है। जिससे आपके अकाउंट में कोई दूसरा लॉगिन नहीं कर पाएंगे।
2. अपने अकाउंट में किये हुए किसी भी वर्क को आप सबसे सुरक्षित रख सकते है। जिससे आपके डाटा के साथ कोई भी अधिकृत एक्सेस नहीं कर सकते।

3. इससे आपके अकाउंट में किये गए सभी काम बस आप ही देख पाओगे बाकि यूजर सिस्टम को इस्तेमाल तो कर पाएंगे पर अस a गेस्ट।

4. पुरे सिस्टम का कण्ट्रोल आपके हाथ में रहेगा। जिससे कोई भी आपके सॉफ्टवेयर में कोई बदलाव जैसे इनस्टॉल या अनइंस्टाल नहीं कर सकता है।

5. आपके कंप्यूटर को सिक्योरिटी प्रदान करता है जिससे आपका कंप्यूटर सभी गेस्ट से सुरक्षित रहता है।
अब आपको यूजर अकाउंट क्रिएट करने के फायदे तो पता चल गए। तो आप समझ गए होंगे अगर आप यूजर अकाउंट अपने सिस्टम में क्रिएट करोगे तो ये आपके लिए ही उपयोगी होगा। पर इसके लिए आपको पता होना चाहिए कंप्यूटर पर नया यूजर क्रिएट कैसे करे। इसके लिए आपको नीचे कुछ स्टेप दिए गए आप इनका पालन करे।


कंप्यूटर पर नया उपयोगकर्ता खाता कैसे बनाये ->>
1. सबसे पहले आपको अपने कंप्यूटर के डेस्कटॉप पर स्टार्ट मेनू नजर आएगा नीचे बायाँ कोने में स्क्रीन की. अब आपको इस स्टार्ट मेनू पर क्लिक करना होगा। आपके सामने आपके कंप्यूटर के सारे कार्यकर्म   की लिस्ट खुल कर जाएगी। अब आपका यहाँ "control panel" के विकप को खोजना होगा। आपके ये कार्यकर्म की लिस्ट में सरलता से मिल जायेंगे।

2. अब आपके अपने सिस्टम से कंट्रोल पैनल से विकल्प को क्लिक करके खोलना होगा। अब आपके सामने कुछ ओर नए विकल्प के साथ एक नया पेज खोल कर जायेगा। यहाँ आपको यूजर अकाउंट का विक्लप नजर आएगा।

3. जब आपको इस विकल्प को खोलना होगा आपको यहाँ कुछ ओर नए विकल्प नजर आएंगे आपको इनमे से क्रिएट नए यूजर को खोजना होगा।

4. अब आप क्रिएट नए यूजर को खोलना होगा। आपको यहाँ अब अपनी मेल id करनी होगी। इसके बाद आपको यहाँ अपने अकाउंट को चुनने का विकप नजर आएगा।

5. यहाँ आपको 2 प्रकार के अकाउंट नजर आएंगे जिनमे से आपको किसी एक को चुनना होगा इससे आपका अकाउंट जैसा आप चुनोगे ऐसा ही हो जायेगा।

6. अब आपको इन दोनों विकल्प में से पहला स्टैंडर्ड और दूसरा एडमिनिस्ट्रेटर में से "administrator" अकाउंट पर क्लिक करना होगा। अब आपको यहां

अपनी मर्ज़ी का पासवर्ड चुनना होगा। आपको यहां कोई स्ट्रांग पासवर्ड देना होगा। अगर आप स्ट्रांग पासवर्ड बनाना नहीं जानते तो आप इसके लिए इंटरनेट की सहायता ले सकते है। इससे आपको यहां काफी अप्प मिल जायेंगे जो आपको एक स्ट्रांग पासवर्ड का कॉम्बिनेशन दे देगा।

7. अब बस अपनी मर्ज़ी का पासवर्ड क्रिएट हो जाने के बाद आपको इसे क्रिएट पर क्लिक करना होगा आपका अकाउंट बन के तैयार हो जायेगा अब आपको इसे चेक करने के लिए बस अपने सिस्टम को रीस्टार्ट करना होगा। जब आपका सिस्टम फिर से on होगा आपके सामने स्क्रीन पर एक अकाउंट का विकल्प आएगा। आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा। अब आपको यहाँ पासवर्ड वेरिफिकेशन की प्रेस को पूरा करना होगा जिससे आप अपने सिस्टम में प्रवेश कर सकते है।


मानक खाता क्या है ओर ये एडमिनिस्ट्रेटर अकाउंट से अलग कैसे है ->>
अपने अभी ऊपर पढ़ा होगा मानक उपयोगकर्ता खाता ओर एडमिनिस्ट्रेटर यूजर अकाउंट। वैसे इस्तेमाल तो ये दोनों कंप्यूटर को चलाने के लिए ही होते है। पर मानक उपयोगकर्ता हमे तब क्रिएट करने की जरुरत पड़ती है जब आपके सिस्टम को कोई भी डिरेक्ट्की इस्तेमाल कर लेता हो इससे आपके सिस्टम को काफी खतरा रहता है क्योकि कोई भी आपके कंप्यूटर को नुक्सान पहुंचा सकता है इसके लिए इस प्रॉब्लम से कैसे बे वजह कंप्यूटर में आप 2 अकाउंट क्रिएट कर सकते है।

तो चलिए जानते है कैसे एडमिन अकाउंट आपके सिस्टम को इन सब प्रॉब्लम से बचाता है। इसमें आप कंप्यूटर तो इस्तेमाल कर पाओगे पर इसमें आपको अगर सिस्टम में कोई भी नया सॉफ्टवेयर इनस्टॉल करना है तो आप नहीं कर सकते या आपको सिस्टम में किसी भी बदलाव की जरूरत है तो आप इसमें अपनी मर्ज़ी से कोई भी बदलाव नहीं कर सकते। इसके लिए आपको सिस्टम के एडमिन अकाउंट की जरूरत पड़ेगी।


व्यवस्थापक खाते ->>
जब आप अपने कंप्यूटर में यूजर क्रिएट करते हो आपके सामने दोनों विकल्प जाते है। एडमिन अकाउंट से आपका सिस्टम सुरक्षित रहता है क्योकि अगर आपका सिस्टम कोई इस्तेमाल भी कर रहा है तो इसमें बस आपको एक स्टैंडर्ड अकाउंट बनके रखना होगा। क्योकि आपका सिस्टम तो आपके अकाउंट से सिक्योर रहेगा जिसके लिए आपको पासवर्ड देना पड़ेगा वरना अगर आपको कंप्यूटर में एंट्री as a गेस्ट ही मिलेगी।

इससे आप कंप्यूटर में इंटरनेट या फाइल रीडिंग जब भी आपको करना है कर सकते हो। पर कुछ ऐसे तरीके है जो इसे स्टैंडर्ड अकाउंट से अलग कर देता है। इसमें आपको अपने सिस्टम में सॉफ्टवेयर इनस्टॉल करना या किसी भी सॉफ्टवेयर को रिमूव करना होगा। या आपको कभी अपने सिस्टम में कुछ बदलने की जरूरत हुई तो आप बड़ी आसानी से कर सकते है क्योकि आप सिस्टम के एडमिन है ओर सिस्टम का पूरा कण्ट्रोल आपके हाथ में रहेगा। इससे एक तो आपका कंप्यूटर हमेशा सुरक्षित रहेगा। आप किसी को अपना सिस्टम फिर इस्तेमाल के लिए दे सकते है।



0 comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.