कैसे करें विदेश में पढ़ाई की तैयारी - पूरी जानकारी हिंदी मैं

कैसे करें विदेश में पढ़ाई की तैयारी

आज का युवा वर्ग महत्वकांशी के साथ साथ जागरूक भी होता है। अपने उज्जवल भविस्य के लिए वो विदेश जाकर पढ़ने से भी नहीं कतराता। लेकिन बहुत से छात्र छात्राये अपनी कुछ कमियों की वजह से विदेश में जाकर पढ़ाई करने से रुक जाते हैं। परन्तु इसके लिए भी उन्हें कुछ बातों का ध्यान रखकर पूरी तैयारी के साथ विदेश जाना चाहिए। आईये जाने की वो कौन कौन सी बातें है। चलिए जाने की विदेश में पढ़ने की तैयारी कैसे करे। यदि आपके आस-पड़ोस या आपकी जान पहचान में कोई भी ऐसे लोग हो जो विदेश में पढ़ाई कर चुके हो या फिर कर रहें हो तो उनसे मिलकर बात करें और उनसे पूछे की उन्होंने कैसे तैयारी की थी और क्या-क्या किया था विदेश में पढ़ाई करने के लिए. इससे आपको अधिक जानकारी मिल सकती हैं विदेश में पढ़ाई करने के लिए उसके बाद ही आप अपनी पढ़ाई करने की शुरुवात करें. विदेश में पढ़ाई कर रहें बच्चो से जितनी ज्यादा हो सके खबर लेते रहे। जानकारी लेने से आपको उनके संघर्ष और सफलताओ का पता चलता है और आपको भी समझने में आसानी होती है।

कैसे करें विदेश में पढ़ाई की तैयारी

विदेश में पढ़ना काफी महंगा साबित हो सकता है। किसी तरह के प्रवेश पत्र को भरने से पहले ये निश्चित करे की आप विदेश में कितना वकत बिताना चाहते है कुछ विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति और कर्ज मिल जाता है। छात्रवृत्ति कई तरह की उपलब्ध होती है जिसके लिए विद्यार्थी विदेश जाने से पहले आवेदन कर सकते है। लेकिन यदि आपका सपना है की विदेश में जाकर पढ़ाई करने का तो अपने होने वाले खर्चो पर ध्यान रखें यानी किसी भी  प्रकार के फालतू के खर्चे ना करें क्योंकि विदेश में जाकर पढ़ाई करने के लिए बहुत रुपयों की आवश्यकता होती है यदि आप पहले से ही अपने खर्चो को पद्धतिबद्ध रखेंगे तो आपको बाद में किसी भी प्रकार की कोई भी परेशानी नहीं होगी।


आप जी देश जाना चाहते है उसका चालू पासपोर्ट होना आवश्यक हैं। यद्यपि कई देश विद्यार्थी वीजा भी देते है अगर आप जिस देश में पढ़ने जा रहे है वहां ऐसा हो तो आपको जाने से बहुत पहले वीजा के लिए आवेदन करना पड़ेगा। ये भी निश्चित करे की आपका वीजा उतने समय के लिए हो जब तक आपको विदेश में रह कर पढ़ना है। जब आप अच्छी तरह से विदेश जाने की तैयारी कर ले तो, विदेश जाने से पहले आप अपने निकट सम्बन्धी, रिश्तेदारों, आस-पड़ोस और अपने दोस्तों को बता दें क्योंकि ऐसा हो सकता है कि आपके सभी निकट सम्बन्धी, रिश्तेदारों, आस-पड़ोस या दोस्तों के कोई पहचान वाले वहाँ रहते हो जहा आप पढ़ने जा रहें हैं इससे आपको और भी आसानी हो जाएगी और आपको नयी जगह जाने पर अधिक व्याकुलता भी नहीं होगी। क्योंकि आपको वहाँ अपने साथ के लोग मिल जायेंगे। और आप अजनबी जगह पर उनसे कभी भी किसी भी प्रकार की सहायता ले सकते हैं।


चिकित्सीय जांच करवाएं ->> विदेश में पढ़ने जाने से पहले अपनी डॉक्टर से सम्पूर्ण जांच करवाकर अश्वातस हो जाये की आप पूरी तरह से स्वस्थ है। अपने डॉक्टर को बताये की आप किस देश में जा रहे है और उनसे एहतियात के टिप्स ले। ये ज़रूरी है की आपका पूरी तरह से टीकाकरण हो रखा हो। डॉक्टर से याद रखकर पूछे अगर कोई और टिका लगवाने की आपको आवश्यकता है उस जगह के मुताबिक जहां आप जा रहें है।

बीमा करवा लें ->> यात्रा बीमा आपके लिए एक जरूरी विकल्प है अगर आप विदेश जाकर बीमार पड़ जाये। अगर आपका स्वस्थ्य बीमा पहले से है तो आप ये निश्चित कर ले की इसमें विदेशी खर्चे सम्मिलित है। अगर ऐसा नहीं है तो आप विदेशी यात्रा के लिए ऐसी कोई पालिसी ले सकते है।

स्थानीय पहचान की खोज कर ले ->> जाने से पहले अपने दोस्तों, रिश्तेदारों तथा अन्य पहचान वालों को बता कर जाए की आप विदेश में कहाँ पढ़ने जाने वाले है। अगर उनकी पहचान का वहां कोई रहता हो तो आपके लिए सुविधा रहेगी।


सामाजिक परिवेश से अवगत रहें ->> विदेश में आप जहां जायेंगे वहां के सामाजिक माहौल को समझ ले ताकि आप अटपटा ना महसूस करे। कोशिस करे की भाषा की समस्या ना आएं। अपने साथ एक विदेशी भासा की डिक्शनरी रखें।

विदेश जाने से पहले तय करें कि आप कहाँ और क्या देखना चाहते है ->> विदेश जाकर आपको पढाई के अलावा यहां वहाँ घूमने का भी मौका मिलेगा। इसके लिए आप जानकारी लेकर जाए की वहाँ क्या क्या देखने को जगह तथा वह पर्यटन स्थल आपके निवास स्थान से कितनी दूरी पर है। इसके लिए आप अलग से मनोरंजन बजट बनाकर चलें। विदेश में आपको विशेष गाइड्स भी मिलेंगे जो ख़ास तौर पर विद्यार्थियों के लिए होते है।

यह भी पढ़ें ->> कैसे करे पढ़ाई

बैंक ढूंढ लें ->> विदेशी बैंक में काम करने का ढंग अलग हो सकता है। आप उतनी आसानी से शायद अपना क्रेडिट या डेबिट कार्ड इस्तेमाल कर पाए जितनी आसानी से अपने देश में करते होंगे। इसलिए अच्छा होगा कि आप विदेश पहुंचते ही अपना एक नया बैंक खाता खोल ले। अपने विदेश पढ़ाई सलाहकार से इस सन्दर्भ में नियम कानून समझ ले।

ये जान ले की आपातकालीन स्थिति में आप क्या करे ->> विदेश जाने से पहले ये पता कर ले की आप पुलिस, अगनि विभाग तथा कोई और विदेशी आपातकालीन सेवाओं को संपर्क कैसे करे। वहाँ के क़ानून सुविधा के बारे में जानकारी लेकर ही जाये।


विदेश में दूतावास ढूंढ ले ->> विदेश जाने से पहले आपको ये पता होना चाहिए की आपके देस का देतावास कहाँ स्थित है। उसका फ़ोन नंबर हमेशा अपने पास रखें। उनकी वेबसाइट से भी जानकारी लेते रहे।



0 comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.