कंप्यूटर नेटवर्किंग में करियर बनाने के आसान टिप्स

कंप्यूटर नेटवर्किंग में करियर बनाने के आसान टिप्स

आज हम अपने इस लेख में आप लोगो को ये बतायेगे कंप्यूटर नेटवर्किंग में करियर बनाने के लिए हमें क्या क्या तरीके अपनाना चाहिए। आप लोगो को बस हमारे इस लेख को जयादा ध्यान से पढ़ने की ज़रुरत है। आज आप लोगो को इस बारे में विस्तार में पता चल जायेगा हुए इस लेख को पढ़ने के बाद आप लोगो के ध्यान का भंडार और ज्यादा उन्नत हो जायेगा। तो बस आप लोग हमारे इस लेख को ध्यान से पढ़िए और कंप्यूटर नेटवर्किंग में करियर बनाने के रस्ते पर अपना कदम आगे बढ़ाये। कंप्यूटर का इस्तेमाल आज के समय में बहुत अधिक मात्रा में होता जा रहा है, शायद ही कोई ऐसा इंसान होगा जो कंप्यूटर का इस्तेमाल नहीं करता हो, आज के समय में तो कंप्यूटर के बिना काम ही नहीं होता है। बच्चो का स्कूल या कॉलेज हो या आपका ऑफिस कंप्यूटर बहुत आवश्यक है।

कंप्यूटर नेटवर्किंग में करियर बनाने के आसान टिप्स


कंप्यूटर नेटवर्किंग का मतलब है दो या दो से अधिक कम्प्यूटरो का एक दूसरे के साथ जुड़ना ऐसे वे आपस में संसाधनों को बाँट सकते है। ये जुड़ाव घर या व्यावसायिक या संस्था के कम्प्यूटरो के बीच संभव है। इंटरनेट इसका सबसे बड़ा उदाहरण है क्योकि वह आपस में हजारो कम्प्यूटरो को जोड़ता है। आईये जाने इसका उपयोग करियर बनाने में कैसे करे। कम्प्यूटर नेटवर्किंग में करियर कैसे करे। नेटवर्किंग में करियर कैसे बनाये ये जानने से पहले हमारा ये जान लेना बहुत ज़रूरी है की नेटवर्किंग क्या होता है। तो चलिए सबसे पहले हम ये जान लेते है की नेटवर्किंग वास्तव में क्या होता है। तो इसी कंप्यूटर के दौर में बहुत सारे व्यक्ति ऐसे भी हैं जो कंप्यूटर नेटवर्किंग में ही अपना करियर बनाना चाहते हैं, कंप्यूटर नेटवर्किंग आपके रोजगार का बहुत ही अच्छा ऑप्शन है।


यदि तुम लोग कंप्यूटर नेटवर्किंग के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो तुमको इसकी अच्छी तरह से पूरी जानकारी होनी चाहिए जो आपको इस क्षेत्र में बहुत आगे तक ले जाने में सहायता करती हैं। यहाँ पर तुमको बताया गया है कि आप कंप्यूटर नेटवर्किंग में कैसे अपना करियर बना सकते हैं और क्या हैं जरुरी कंप्यूटर नेटवर्किंग के क्षेत्र में अपना करियर बनाने के लिए। आपने देखा होगा कि किसी बैंक या बड़ी कंपनी में एक नहीं बहुत सारे कंप्यूटर होते है। और सारे कम्प्यूटर्स का एक दूसरे के साथ लिंक होता है। तो सारे कम्प्यूटर्स को जो चीज़ जोड़े रखती है। उसी चीज को नेटवर्किंग कहते है जिसके बहुत सारे उपकरण जैसे राऊटर, हब, सर्वर आदि की ज़रुरत पड़ती है।


नेटवर्किंग क्या होता है ->> कंप्यूटर नेटवर्क एक ऐसा सिस्टम है जिसमे एक से अधिक कंप्यूटर एक दूसरे के साथ जुड़े रहते हैं और डाटा, साधन तथा जानकारी को शेयर करते हैं। तो चलिए अब हम ये जान लेते है की नेटवर्किंग में करियर बनाने के लिए हमें किन किन बातो का खास तोर पर ध्यान रखना चाहिए। नेटवर्किंग में करियर बनाने के लिए आपको सबसे पहले उस क्षेत्र में उचित शिक्षा हासिल करनी होगी। जब आप पर्याप्त शिक्षा प्राप्त कर ले और जब आपको लगे की आप इस क्षेत्र में करियर बनाने के लिए पूरी तरह से तैयारhie तब आप किसी कंपनी में नौकरी के लिए अप्लाई कर सकते है।

क्या पढ़े ->> कंप्यूटर हार्डवेयर का ज्ञान होना कंप्यूटर नेटवर्किंग की बुनियादी ज़रुरत है। कंप्यूटर नेटवर्किंग में प्रमाणपत्र पाठ्यक्रम का ज्ञान आपको LAN और WAN में दक्षता प्राप्त कराएगा जिसकी आजकल बहुत मांग है।

मूल उपाध्याय ->> नेटवर्किंग पढ़ने के लिए मूलयता आपके पास कंप्यूटर विज्ञान या विद्युतीय या इलेक्ट्रोनिक या दूरसंचार में स्नातक या डिप्लोमा होने के साथ कंप्यूटर हार्डवेयर के पाठ्यक्रम की पढाई करना काफी है। जो विद्यार्थी स्कूल में पढ़ते है उन्हें बुनियादी कंप्यूटर शिक्षा लेनी चाहिए। इससे उन्हें भविष्य में हार्डवेयर तथा नेटवर्किंग की पढाई करने में सहूलियत रहेगी।

प्रमुख कुशलताएँ ->> कंप्यूटर नेटवर्किंग में करियर बनाने के लिए यह आवश्यक है की इस क्षेत्र में प्रतिदिन हो रहे सुधारो से आप अवगत रहे। वार्तालाप कुशल  होना भी ज़रूरी है क्योकि आपको तरह तरह के लोगो एवं संस्थानों में बातचीत करनी पड़ती है। तो ऊपर आप लोगो ने ये जाना की नेटवर्किंग क्या होता है तो चलिए अब हम ये जान लेते है की नेटवर्किंग में स्कोप क्या क्या है।

कंप्यूटर नेटवर्किंग विशेषज्ञ ->> कंप्यूटर नेटवर्किंग की पढ़ाई करके आप इसके विशेषज्ञ बन सकते है।  इनका काम होता है की नेटवर्क को चलायमान रखे। किसी भी समस्या को जल्द और रचनात्मक रूप से सुलझाना इनका दायित्व होता है। करियर के शुरुआती दिनों में एक कंप्यूटर नेटवर्किंग विशेषज्ञ का काम होता है की वो उस संस्था के नेटवर्क की तकनिकी उत्थान की और ध्यान दे।

कंप्यूटर व्यवस्थापकों धीरे है प्रतिबंध ->> कंप्यूटर नेटवर्किंग की पढ़ाई कर आप एक सफल नेटवर्क प्रशासक बन सकते है। इनका काम उपयोगकर्ता का खाता बनाना, अन्य संशाधनो का ध्यान रखना आदि होता है नेटवर्क संपर्क या प्रिंटर्स में रही परेशानियों को ये सुलझाते है। इन्हे सम्पूर्ण संसथान के नेटवर्क की सुरक्षा भी देखनी पड़ती है।

कंप्यूटर नेटवर्किंग इंजीनियर विश्लेषक प्रतिबंध धीरे है ->> एक नेटवर्क इंजीनियर का काम कम्प्यूटरों का समूह जो एक दूसरे से जुड़े हुए है। उसका आकर एवं बंदोवस्त देखना होता है। कंप्यूटर नेटवर्किंग विश्लेषक प्रतिबंध नेटवर्क एनालिस्ट पूर्ण कंप्यूटर नेटवर्क एवं सम्पूर्ण कंप्यूटर संरचना की देखभाल करना है। वह कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर लगाता है तथा कंप्यूटर इस्तेमाल करने वाले को प्रश्क्षिण करता है।

नेटवर्क तकनीशियन प्रतिबंध धीरे है ->> एक नेटवर्क तकनीशियन का काम किसी तकनीकी खराबी को ठीक करना होता है। इसके लिए उसे सिर्फ नेटवर्किंग का बल्कि ऑपरेटिंग सिस्टम जैसे माइक्रोसॉफ्ट, यूनिक्स आदि का ज्ञान होना आवश्यक है। हर तरह के समूह में नेटवर्क होते है पर सब किसी टेक्निशन को पूर्ण रूप से नियुक्त नहीं करते। वो अन्य छोटे समूह से अनुबंध करके ज़रुरत पड़ने पर टेक्निशन को बुलवा लेते है।

कंप्यूटर नेटवर्किंग शिक्षक ->> इस क्षेत्र के लगातार बढ़ते रहने से कंप्यूटर नेटवर्किंग शिक्षकों की मांग बहुत बढ़ गयी है इसके शिक्षक बनने के लिए डॉक्टरेट उपाधि होना अनिवार्य नहीं है।

अन्य कंप्यूटर नेटवर्किंग करियर ->> इनके अलावा कंप्यूटर नेटवर्किंग की पढ़ाई आपको निम्न करियर बनाने का भी मौका देती है।
कंप्यूटर प्रोग्रामर
कंप्यूटर इंजीनियर
कंप्यूटर व्यवस्थापक
डेटाबेस व्यवस्थापक
वेब मास्टर
कंप्यूटर ऑपरेशंस शोधकर्ता
कंप्यूटर मरम्मत विशेषज्ञ
प्रणाली विश्लेषक

नेटवर्क तक्नीकज्ञा / नेटवर्क प्रोग्रामर या एनालिस्ट / सिस्टम्स मैनेजर्स के ज़िम्मेदारियों में फर्क ->>
इन नेटवर्क तक्नीकज्ञा मुख्यता हार्डवेयर एवं सॉफ्टवेयर में रही दिक्कतों के उपाय ढूंढ़ता है। ये सर्विसिंग के लिए ग्राहकों की सुविधा के लिए दूर दराज़ इलाको में भी जाते है।
नेटवर्क प्रोग्रामर का काम सॉफ्टवेयर प्रोग्राम या लिपि को लिखने का होता है। माजूदा नेटवर्क के माहोल में नए सॉफ्टवेयर का प्रयोग करना भी इन्ही का काम होता है।
मैनेजर का काम प्रशासक इंजीनियर आदि के काम को निरिक्षण करना होता है योजना तथा निति तय करना भी इनका काम होता है।

आईएसएस क्षेत्र का पेय स्केल ->> विभिन्न पदों के अनुसार आप इस फील्ड के शुरुआत में आप को कम से कम 1,95000 रूपये से लेकर 2, 45000 तक हो सकती है।

नौकरी ->> इंडिया में हार्डवेयर / नेटवर्किंग का मार्केट बहुत बड़ा है अगर आपने नेटवर्किंग के बारे में कम्पलीट शिक्षा ली है और आप इस क्षेत्र में करियर बनाने में रूचि रखते है तो ऐसी बहुत सी बड़ी कंपनी है जहाँ पर आपको नौकरी मिल सकती है। आप किसी भी बड़े इंस्टिट्यूट में नेटवर्किंग के बारे में शिक्षा हासिल करने के बाद किसी भी बड़ी कंपनी में नौकरी के लिए अप्लाई कर सकते है।

व्यापार ->> नेटवर्किंग के बारे में पूरी शिक्षा हासिल कर लेने के बाद आप कुछ साल जॉब करने के बाद आप अपना खुद का व्यापार शुरू कर सकते है। जहाँ पर आप कंप्यूटर, प्रिंटर, सर्वर रिपेयर और सेल का काम कर सकते है। यहाँ पर आप एक बात याद रखिये की व्यापार के द्वारा आप जॉब से कई ज्यादा पैसा कमा सकते है। बस आपको खुद के ऊपर थोड़ा दबाव लेते हुए खुद की  प्रतिभा को धीरज के साथ आजमाने की ज़रुरत है। बस यहाँ पर आपको खुद पर थोड़ा भरोसा रखना होगा और दुनिया के सामने इस मोके को लेना होगा की आप कितने मेहनती और प्रतिभाशाली है।

ये जरूरी नहीं है कि आपको एक ही बार अप्लाई करने पर नौकरी मिल जाये इसलिए अगर आपको एक बार में जॉब मिले तो आप हिम्मत ना हरे और प्रयत्न करना छोड़े। अगर भगवन ने चाहा तो आप बहुत जल्दी इस क्षेत्र में करियर बनाने में सफल हो जायेगे।

उम्मीद करते है की ऊपर के लेख में हमने आप लोगो को ये विस्तारपूर्वक बता दिया है की कंप्यूटर नेटवर्किंग में  करियर कैसे बनाया जाता है तो बस आप लोग इस लेख को घ्यान से पढ़िए ओर भरोसा करिये आश्वासन इस लिख से आप लोगो को फायदा जरूर होगा।

यह भी पढ़ें ->> सफल व्यक्ति बनने के आसान तरीके



0 comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.