रैनसमवेयर अटैक क्या है | Ransomware Virus Kya Hai | Meaning In Hindi

रैनसमवेयर अटैक क्या है

इंटरनेट आज के समय में सभी इस्तेमाल करते है। इसके आपको बहुत लाभ है लेकिन  इससे होने वाली हनी भी किसी से छिपी नहीं है। सभी अपने कंप्यूटर सिस्टम को इंटरनेट से तो कनेक्ट करते है चाहे वो किसी ऑफिस का सिस्टम हो या आपका परसनल PC इसके साथ आपके सिस्टम में वायरस के अटैक के चांस भी बढ़ जाते है। आज हम ऐसे ही एक लेटेस्ट पावरफुल रैनसमवेयर वायरस को कैसे पहचाने मीन्स वानाक्रिप्ट अटैक जानेंगे।

अभी 12-05-2017 में दुनिया में सबसे बड़ा साइबर अटैक हुआ था वानाक्रिप्ट अटैक। जिसने विंडोज को अटैक किया था जिसका असर पूरी दुनिया में देखने को मिला है। रीसर्च में पता चलता है अटैक की वजह रैनसमवेयर वायरस है। ये वायरस अमेरिका ने अपनी सिक्योरिटी को लेके बनाया था पर इसका पहली बार किसी एजेंसी ने मिसयूज किया है ये काफी खतरनाक वायरस है और इतना पावरफुल है जिसने पूरी दुनिया को अपने अटैक से हिला कर रख दिय।

रैनसमवेयर अटैक क्या है | Ransomware Virus Kya Hai | Meaning In Hindi


चलिए अब जानते है रैनसमवेयर वायरस है क्या और यह कैसे आपके सिस्टम को इफ़ेक्ट करता है। रैनसमवेयर वायरस को कैसे पहचाने और इससे आप अपने सिस्टम को कैसे सुरक्षित कर सकते है इसके लिए पुरे आर्टिकल को पढ़े और अपने सिस्टम को सभी वायरस अटैक से बचाये।


रैनसमवेयर को कैसे पहचाने ->> अगर आपको वायरस के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है तो आपको इसके लिए ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं है क्योंकि इस वायरस को पहचानना बहुत ही आसान है। ये आपके सिस्टम पर तभी अटैक करेगा जब आपका सिस्टम किसी भी नेटवर्क से कनेक्ट होता है। अगर जब आप अपना सिस्टम ों करते है इसके बाद अगर आप अपने सिस्टम में किसी भी फाइल को ओपन नहीं कर पा रहे हो।
इसके बाद किसी भी फोल्डर पर क्लिक करे। अगर कही भी क्लिक करने पर आपके सामने पेमेंट ऑप्शन आता है तो आप समझ जाये किसी हैकर ने आपके कंप्यूटर में वायरस दाल दिया है। आपका कंप्यूटर वायरस से अफ्फेक्टिड हो गया है। इसमें जब आप पेमेंट करेंगे तो हैकर आपको एक Key देगा इसको आपको एंटर करना होगा इसके बाद ही आप अपने सिस्टम के फाइल ओर फोल्डर को ओपन कर सकेंगे। पर ये सही हल नहीं है तो चलिए जानते है इस वायरस से अपने सिस्टम को सुरक्षित कैसे करे।


रैनसमवेयर कैसे आपके सिस्टम को प्रभावित करता है ->> रैनसमवेयर अटैक अगर आपके सिस्टम पर हो गया है तो इसके बाद आपका पूरा सिस्टम ये लोक कर देता है। आपके सामने एक लोक आता है जिसे ओपन करने के लिए आपको एक के देनी होगी इसके बाद ही आप अपने सिस्टम को यूज कर पाओगे। क्योंकि ये अटैक जिस हैकर ने किया है वो बस आपसे पैसे की डिमांड करेगा। किसी भी नार्मल यूज़र के लिए इस लोक को तोड़ पाना असंभव है। तो आपको अगर अपने सिस्टम को इससे बचाना है तो आपके सामने जो पेमेंट का ऑप्शन आएगा आपको वहां पेमेंट करनी होगी इसके बाद ही आप अपने सिस्टम को फिर से चला पाएंगे।

अभी इंडिया भी इस वायरस से प्रभावित हुआ था इसके साथ ही सत्तर देशो के सिस्टम में एक साथ अटैक हुआ है जिससे पूरी दुनिया के सिस्टम प्रभावित हुए है। ये अटैक सिर्फ पैसे के लिए ही नहीं आपके सिस्टम से किसी भी ऑफिसियल इनफार्मेशन को चुराने के लिए भी इस वायरस का प्रयोग किया जा सकता है। क्योंकि ये आपके सिस्टम को लोक करने के साथ-साथ आपके सिस्टम से किसी भी फाइल को चुराने के भी काबिल है पर आप इससे बच सकते हैं बस इससे आपको थोड़ा सा सावधान रहने की जरुरत है तो चलिए जानते है इससे कैसे बचेl


रैनसमवेयर वायरस से कैसे बचे ->> वानाक्रिप्ट रैनसमवेयर से अपने सिस्टम को सुरक्षित रखने के बहुत से तरिके है इसके लिए निचे दिए दिए गए सभी स्टेप्स को फॉलो करे।

Updated windows 10 का यूज करे ->> ये बात देखने में आयी है जिस भी सिस्टम में windows 10 का अपडेटेड वर्जन इन्सटाल्ड था कोई भी सिस्टम इस वायरस से प्रभावित नहीं हुआ है किसी सिस्टम में इस वायरस से कोई भी नुक्सान देखने में नहीं आया है वो सब सिस्टम प्रॉपर काम कर रहे थे क्योंकि windows 10 एक अत्यधिक सुरक्षित सिस्टम है और किसी सिक्योरिटी को रोक पाना इतना आसान नहीं है। अभी कुछ टाइम पहले इसे लांच किया गया है।  तो आप अपने सिस्टम को इस वायरस सुरक्षित रखने के लिए इस वर्जन को अपने सिस्टम में इनस्टॉल कर सकते है।


डाटा बैकअप बना कर रखे ->> अगर आपके सिस्टम में ऐसा काम होता है जो काफी जरूरी है। तो आपके लिए ये काम और भी जरूरी है क्योंकि अगर आपके सिस्टम में कई बार इस वायरस का अटैक हो गया तो हैकर बड़े आराम से आपके डाटा को चुरा सकता है  आपके अपने सिस्टम को एक्सेस करने से भी रोक सकता है। तो इस प्रॉब्लम से बचने के लिए अपने सिस्टम का रोज का काम हो जाने के बाद इसका बैकअप ले और किसी भी एक्सटर्नल डिवाइस में इसे स्टोर रखे। ऐसा करने पर जब भी आपके सिस्टम में वायरस आता है तो आप अपने सभी डाटा को डिलीट कर दे जिस कारण आपके कंप्यूटर में आया वायरस भी डिलीट हो जायेगा और आप फिर से अपना बैकअप किया हुआ डाटा अपने कंप्यूटर में ले सकते है।


अच्छे एंटीवायरस का यूज करे ->> अपने सिस्टम को पूरी सुरक्षा देने के लिए किसी भी अच्छी कंपनी के एंटीवायरस का यूज करे। क्योंकि कोई भी फ्री का एंटीवायरस आपको इस लेवल तक की सुरक्षा नहीं देता है कि आपको रैनसमवेयर जैसे वायरस से प्रोटेक्ट नहीं करता। तो इसके लिए किसी भी पैड एंटीवायरस का यूज करे। इस बात का ध्यान रखे अपनी वायरस डेफिनिशन को टाइम के टाइम अपडेट रखे। इससे नए आने वाले किसी भी वायरस को भी आपका एंटीवायरस उसे आइडेंटिफाई कर लेता है और आपके सिस्टम को प्रोटेक्ट रखता है। अगर आपके सिस्टम में कोई भी पेड एंटीवायरस इन्सटाल्ड है तो वो आपके सिस्टम में आने वाले सभी वायरस से आपके सिस्टम को प्रोडेक्ट करता है। इसके साथ ही आपके सिस्टम को स्कैन करके सभी वायरस फाइल को रिमूव भी करता है।


स्पैम ईमेल को ओपन करे ->> आपके पास काफी ईमेल आते रहते है किसी भी ईमेल जिसमे ऐसे फाइल हो उसे डाउनलोड ना के और सभी इमेल्स को स्कैन करे इससे आपका सिस्टम साफ रहेगा।

उम्मीद है कि आपको रैन्समवेयर वायरस को कैसे पहचाने और वनक्रिप्ट अटैक क्या है समझ में ही गया होगा निचे उसे रिमूव करने के तरिके भी बताये गए है उन्हें ठीक से पढ़े और फॉलो करेंगे तो आपका सिस्टम हमेसा सुरक्षित रहेगा।


0 comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.